रोजाना समाचार अपने मोबाइल पर पाने के लिए या कोई भी सुचना देने के लिए आपके सभी व्हाट्सप्प ग्रुप्स में हमारा नंबर 9893200664 जोड़े

मंडी में फसले भीगी, नदी-नालों को फिर मिली रफ्तार - Humara Mandsaur
Sun. Sep 22nd, 2019

Humara Mandsaur

News & Mandi Bhav

मंडी में फसले भीगी, नदी-नालों को फिर मिली रफ्तार

1 min read
अपने सभी दोस्तों के शेयर करने के लिए निचे क्लिक करे

तीन-चार दिन के अंतराल के बाद एक बार फिर बुधवार को दोपहर बाद जिले के अधिकांश हिस्सों में झमाझम बरसात हुई। मंडी में खुली में पड़ी फसलें भीग गईं। वहीं नदी-नालों को फिर से रफ्तार मिल गई। शाम को चार बजे से ही घने काले बादल छाने से अंधेरे छा गया। कुछ देर रिमझिम के बाद तेज बरसात हुई। जिले के सभी हिस्सों में अच्छी बरसात हुई है।

शामगढ़। नगर में शाम चार बजे से जोरदार बारिश हुई। आधा घंटे तक हुई बारिश सड़कें तरबतर हो गईं। लोगों ने तेज उमस व गर्मी से राहत मिली। शाम सवा छह बजे पुनः काले बादल छाए गए। बुधवार को नगर में दोपहर डेढ़ बजे व फिर चार बजे जोरदार बारिश से पानी सड़कों से बह निकला।

 

दलौदा। बुधवार को आधे घंटे से अधिक समय तक झमाझम बारिश हुई। सड़कें जलमग्न हो गईं। फोरलेन पर निकल रहे वाहन चालकों को हेडलाइट चालू करना पड़ी। सुबह से ही आमजन तेज गर्मी से परेशान थे दोपहर तीन बजे बाद अचानक मौसम परिवर्तन हुआ और मूसलधार बारिश होने लगी इससे नगर के सर्विस रोड जलमग्न हो गए।

पुलिया पर पानी, बच्चों को मुश्किल से निकाला

कुचड़ौद। ग्राम सेमलिया काजी, सातल खेड़ा, अरनियागुर्जर, सीहोर, रातीखेड़ी, खजूरी आंजना में बुधवार दोपहर 2.45 से 3.30 बजे तक गरज-चमक के साथ मूसलधार बारिश हुई। आधे घंटे में ही सभी तरफ पानी ही पानी हो गया। कई मकानों में पानी घुस गया। आसमान में बिजलियां चमकी व गर्जना हुई। स्कूल के विद्यार्थियों ने बड़ी मुश्किल से बस स्टैंड स्थित पुलिया पार की। अभिभावक ने बच्चों को पीठ पर उठाकर तो कई बच्चों को ट्रैक्टर-ट्रॉली से निकाला गया। बालक-बालिकाएं एक-दूसरे का हाथ पकड़कर पुलिया पार करते दिखे। पुलिया पर दो-तीन फीट पानी बह रहा था। बस स्टैंड क्षेत्र में कई दुकानों मकानों एवं मंदिर में पानी घुस गया। श्री चारभुजानाथ मंदिर क्षेत्र में बीच सड़क पर ईंटें पड़ी होने से पानी की निकासी नहीं हुई। इससे आसपास के घरों में पानी घुस गया। उधर नाले में अत्यधिक पानी आने से सड़क पर बहने लगा। टेम्पो ट्रेक्स के वाहन चालक को सड़क पर पानी भरा होने से नाले का पता नहीं चला और नाले में उतर गया। पंच कंवरलाल मेगरिया ने ट्रैक्टर से निकाला। किसानों का कहना है कि बुधवार को हुई बारिश ने रही-सही कसर पूरी कर दी है। अब शासन मुआवजा देकर गरीब किसानों की मदद करे।

निचली बस्ती के कई घरों में घुसा पानी

नगरी। बुधवार को क्षेत्र में मौसम की सबसे तेज बारिश हुई। दोपहर 3.30 बाद हुई करीब आधे घंटे तक चालू रही। बारिश से हर नाला उफान पर होने से कई मार्गों पर डेढ़ से दो घंटे आवागमन बाधित रहा। कचनारा में सोसायटी के सामने की पुलिया पर पानी आने से दो घंटे आवागमन बंद रहा। नगरी में बस स्टैंड के पास की पुलिया के साथ ही नगर परिषद के सामने भी मार्ग अवरूद्घ रहे। नगरी-कचनारा में निचली बस्तियों के कई घरों में पानी भर गया।

सोयाबीन की फसल चौपट

लगातार बारिश से क्षेत्र में सोयाबीन की फसल लगभग बर्बाद हो गई है। कई खेतों में सोयाबीन पर फलिया ही नहीं आई। कुछ खेतों में सोयाबीन की फसल पीली पड़ कर सूखने लगी है। किसानों ने फसलों को लेकर शासन स्तर पर आर्थिक राहत प्रदान करने की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *