रोजाना समाचार अपने मोबाइल पर पाने के लिए या कोई भी सुचना देने के लिए आपके सभी व्हाट्सप्प ग्रुप्स में हमारा नंबर 9893200664 जोड़े

शिवराज प्रदेश में हत्या और अपराध चल रहा, तो कमलनाथ के मंत्री बोले अपना कार्यकाल याद करो - Humara Mandsaur
Mon. Oct 21st, 2019

Humara Mandsaur

News & Mandi Bhav

शिवराज प्रदेश में हत्या और अपराध चल रहा, तो कमलनाथ के मंत्री बोले अपना कार्यकाल याद करो

1 min read
अपने सभी दोस्तों के शेयर करने के लिए निचे क्लिक करे

विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान कानून व्यवस्था को लेकर जमकर हंगामा हुआ। भाजपा सदस्य भोपाल में बच्चे की हत्या सहित अन्य अपराध का हवाला देकर कानून व्यवस्था पर चर्चा के लिए अड़ गए। इस पर दो बार सदन स्थगित करना पड़ा। बाद में भाजपा ने सदन का बहिर्गमन कर दिया। इससे प्रश्नकाल व शून्यकाल दोनों हंगामे की भेंट चढ़ गए।
प्रश्नकाल शुरू होते ही पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा- प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त है। इस पर नेता-प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने राजधानी में बच्चियों से बलात्कार सहित अन्य घटनाओं को उठाया। भाजपा सदस्य नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि बलात्कारियों को एक महीने में फांसी दिलाई जाए। प्रश्नकाल रोककर कानून व्यवस्था पर चर्चा हो। संसदीय कार्य मंत्री सज्जन सिंह वर्मा और जीतू पटवारी ने प्रश्नकाल रोकने को गलत ठहराया। इसके बाद हंगामा शुरू हो गया। शिवराज ने 12 साल की बच्ची से बलात्कार का मामला उठाते हुए कहा कि प्रदेश में हत्या, बलात्कार और अपराध का उद्योग बन गया है। इस पर मंत्री सज्जन ने कहा कि अपना कार्यकाल याद करो। मध्यप्रदेश हिन्दुस्तान में बलात्कार का अड्डा बन गया था। इसके बाद दोनों ओर से बहस शुरू हो गई। भाजपा ने जब कानून व्यवस्था खराब होने की बात कही तो सत्ता पक्ष ने भाजपा को उनके पंद्रह साल याद दिलाए, जिसके बाद हंगामा शुरू हो गया। शिवरान ने कहा कि सीएम और गृह मंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए, इस पर बहस बढ़ती गई, जिसके चलते विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति को दो बार सदन स्थगित करना पड़ा। पहले 11.12 बजे पांच मिनट और फिर 11.28 बजे 12 बजे तक के लिए सदन स्थगित हुआ। इसके बाद वापस सदन शुरू हुआ तो नरोत्तम ने व्यवस्था का प्रश्न उठा दिया। भाजपा विधायक कानून व्यवस्था पर चर्चा के लिए अड़ गए। पहले विरोध में नारेबाजी करते हुए गर्भगृह में उतरे और फिर बहिर्गमन कर दिया।


समाचार जारी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *