रोजाना समाचार अपने मोबाइल पर पाने के लिए या कोई भी सुचना देने के लिए आपके सभी व्हाट्सप्प ग्रुप्स में हमारा नंबर 9893200664 जोड़े

दुष्कर्म के तीन दोषियों को दस-दस वर्ष का कारावास - Humara Mandsaur
Fri. Nov 22nd, 2019

Humara Mandsaur

News & Mandi Bhav

दुष्कर्म के तीन दोषियों को दस-दस वर्ष का कारावास

1 min read
अपने सभी दोस्तों के शेयर करने के लिए निचे क्लिक करे

गरोठ।अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश संजय चतुर्वेदी ने नाबालिक से दुष्कर्म के आरोप में कालू उर्फ कालूराम पिता देवीलाल बसेर निवासी छायन तहसील शामगढ़, तरुण पिता बलराम सटगल निवासी राव कॉलोनी शामगढ़ तथा संतोष पिता शंकरलाल मेघवाल निवासी टकरावद तहसील शामगढ़ को 10-10 वर्ष का सश्रम कारावास तथा 8-8 हजार रुपए के अर्थदंड सुनाया है।

अतिरिक्त शासकीय अधिवक्ता सीताराम पाटीदार ने बताया कि घटना के अनुसार तीन जुलाई 2017 को शामगढ़ थाने में नाबालिग लड़की के गुमशुदा होने की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। इसमें बताया कि फरियादी अपनी पत्नी, पुत्री तथा पुत्र के साथ घर में सो रहा था, सुबह जब नींद खुली तो उसे उसकी नाबालिग लड़की घर पर नहीं थी। इधर-उधर ढूंढा लेकि न नहीं मिल पाई। जांच में सामने आया कि कालू बसेर उसे बहला-फुसलाकर भगा कर ले गया है। अनुसंधान में यह पाया कि नाबालिग को आरोपित तरुण, जीवन तथा संतोष ने भगाने में सहयोग किया इसके साथ ही दोनों ने नाबालिग लड़की पर कालूराम से शादी करने का दबाव भी बनाया। कालूराम नाबालिग को मंदसौर सहित कई जगह ले गया और वहां उसके साथ दुष्कर्म किया। नाबालिग शामगढ़ के एक निजी स्कूल में पढ़ाने भी जाती थी। कालूराम रोज उसका पीछा करता था। लड़की के विरोध करने पर उसके परिजन को जान से मारने की धमकी भी देता था। इस दौरान कालूराम ने अपनी दुकान के ऊपर कमरे में ले जाकर भी कई बार उससे ज्यादती की। बाद में पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर तीनों आरोपितों को न्यायालय में पेश किया। अभियोजन के दौरान 15 साक्षियों के कथन करवाए गए जिसे प्रमाणित मानते हुए अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश संजय कुमार चतुर्वेदी ने कालू, तरुण व संतोष को 10- 10 वर्ष की सश्रम कारावास तथा 8-8 हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है। अभियोजन की ओर से पैरवी अपर लोक अभियोजक सीताराम पाटीदार ने की।

 

समाचार जारी ...

1 min read
1 min read
1 min read

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *